आदिवासी सेवा समिति बंजारी नवा रायपुर का चुनाव 10 अप्रैल के बाद


धमतरी


न्यू राजधानी आदिवासी सेवा समिति छत्तीसगढ़ बंजारी नवा रायपुर पंजीयन क्रमांक 2764 के कार्यकारिणी की बैठक अध्यक्ष श्री संतराम ध्रुव की अध्यक्षता में आहूत की गई है। बैठक में समिति के प्रबंधकारिणी के नियमित बैठक आहूत किए जाने,10 फरवरी 2010 को गठित समिति के कार्यकाल पूर्ण होने के उपरांत समिति के चुनाव, मनोनयन के संबंध में चर्चा किया गया। समिति के कार्यकारिणी के पुनर्गठन के लिए प्रदेश भर से समाजसेवी सदस्यों को सदस्यता ग्रहण कराए जाने हेतु सदस्यता अभियान दिनांक 10 अप्रैल 2022 तक चलाया जाकर नई कार्यकारिणी गठन हेतु निर्णय लिया गया। आदिशक्ति मां अंगारमोती प्रांगण गंगरेल में माननीय मुख्यमंत्री जी के समक्ष रखे गए प्रस्ताव के अनुसार बंजारी धाम क्षेत्र में ढाई करोड़ के प्रोजेक्ट रिपोर्ट जिसमें गोटूल विश्वविद्यालय बनाए जाने हेतु मांग की गई थी के बदले गोटूल ज्ञान गुड़ी प्राथमिक एवं मिडिल स्कूल संचालित करने का संशोधित प्रस्ताव माननीय मुख्यमंत्री सचिवालय और शिक्षा विभाग के संचालक को प्रेषित करने का निर्णय लिया गया।विश्व के सबसे बड़ा विराट बड़ादेव ठाना सल्ला-गागरा बंजारी धाम में आदिवासी संस्कृति, साहित्य के विकास हेतु मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण से 25 लाख रुपए का अनुदान मध्यक्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के माननीय सदस्य श्री मोहित ध्रुव जी के माध्यम से सामुदायिक भवन, पेयजल, शौचालय, देव गुड़ी, ग्रंथालय का प्रस्ताव भेजा जावेगा।आय- व्यय की जानकारी प्रस्तुत की गई। बैंक ऑफ बड़ौदा नया रायपुर से राशि आहरण हेतु पदाधिकारियों के केवाईसी की जावेगी। आदिवासी संस्कृति के संरक्षण संवर्धन हेतु सुरक्षित बंजारी धाम स्थल पर अनावश्यक अतिक्रमण किए जाने पर चिंता व्यक्त की गई

इस अवसर पर सूरज कुमार, देव मार्को,मोहित ध्रुव, श्रीमती तारा ध्रुव , जनक ध्रुव, रामजी ध्रुव, सोनऊ राम नेताम, संतोष सिंह, शिवदयाल ध्रुव, हरिराम ध्रुव, राम कुमार ध्रुव, टामेश्वर ठाकुर, हेमलाल ध्रुव, विनोद नागवंशी, मोहन कोमरे, आर एन ध्रुव, एन आर चंद्रवंशी, नारायण सिंह सिदार सहित समिति के पदाधिकारियों एवं सदस्यगण उपस्थित थे।

 1,976 total views,  4 views today


Facebook Comments

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

कुपार लिंगों ना रच्च पच्च पेन कर्रसाड़ 14 अप्रैल त आयाल

कुरुुुषपाल ग्रामसभा ने पेश किया सामुदायिक वन संसाधन अधिकारों का दावा