अजजा शासकीय सेवक विकास संघ प्रांतीय प्रबंध कारिणी का गठित आर एन ध्रुव पुनः प्रांताध्यक्ष निर्वाचित



अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के प्रबंधकारिणी का कार्यकाल पूर्ण होने के फल स्वरुप तय कार्यक्रम के अनुसार बड़ादेव ठाना, बंजारी, नवा रायपुर छत्तीसगढ़ में संघ द्वारा साधारण सभा की बैठक आहूत की गई । बैठक में प्रांतीय प्रबंध कारिणी का गठन किया गया। जिसमें प्रांताध्यक्ष के रूप में आर.एन.ध्रुव के पुनः प्रांताध्यक्ष निर्वाचित होने के साथ ही उनके नए कार्यकारिणी में कंधे से कंधा मिलाकर चलने वाले प्रान्तीय उपाध्यक्ष कमलेश ध्रुव ,सदे सिंह कोमरे ,शिवकुमार कंवर,प्रान्तीय महासचिव मोहन कोमरे,प्रान्तीय कोषाध्यक्ष एन.आर.चंद्रवंशी निर्वाचित हुए। अन्य शेष पदों पर प्रांतीय प्रबंध कारिणी की बैठक आहूत कर पदों की पूर्ति की जावेगी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के रूप में पूर्व डीआईजी अकबर राम कोर्राम, सहायक निर्वाचन अधिकारी फूल सिंह नेताम, हरवंश मिरी एवं श्री दीवान जी, पीठासीन अधिकारी के रूप में उमेंदी राम गंगराले, संतोष नेताम, तरुण नेताम, हीरालाल पैकरा द्वारा चुनाव कार्यक्रम संपन्न कराया गया।
इस अवसर पर बैठक में पूर्व प्रांतीय उपाध्यक्ष डॉ शंकर लाल उइके, सीपी ठाकुर, कुलदीप कुजूर,सचिव जय सिंह राज,संयुक्त सचिव जेपीएस ठाकुर,एस एस दीवान जिलाध्यक्ष जीवराखन लाल मरई धमतरी, जिला अध्यक्ष बिलासपुर आरसी ध्रुव, जिला अध्यक्ष रायपुर नेपाल सिंह सिदार, जिलाध्यक्ष बलौदा बाजार श्री राम ध्रुव, जिलाध्यक्ष कबीरधाम आसकरण धुर्वे, जिलाध्यक्ष सरगुजा संदीप पैकरा, संरक्षक बेमेतरा के एस परते, जिलाध्यक्ष ए एस ठाकुर,जिला अध्यक्ष मुंगेली अकत ध्रुव, जिला अध्यक्ष रायगढ़ एफ एल सिदार, जिला महासचिव महासमुंद एसपी ध्रुव, जिलाध्यक्ष गरियाबंद भागसिंह ठाकुर, संयोजक बलरामपुर जय श्री कुमार, जिला अध्यक्ष सुकमा कोमल सिंह मरकाम, जिलाध्यक्ष दंतेवाड़ा त्रिपुरारी मंडावी, जिलाध्यक्ष राजनांदगांव सीएल चंद्रवंशी, जिलाध्यक्ष बालोद एच एल मानकर ,जिलाध्यक्ष जगदलपुर एस एस कुरेटी, डॉक्टर कमल कांत शोरी, डॉ पवन मरकाम, गजलू पोडियाम, कैलाश मरकाम गौरेला पेंड्रा मरवाही सहित पूरे प्रदेश भर के अनुसूचित जनजाति वर्ग के शासकीय सेवकगण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। संघ के नवनिर्वाचित प्रांताध्यक्ष आरएन ध्रुव ने कहा कि संगठन अनुसूचित जनजाति वर्ग के हितों की रक्षा हेतु कृत संकल्पित है। सबके भावनाओं के अनुरूप संगठित होकर सबको साथ लेकर संघ को छत्तीसगढ़ में अग्रणी पंक्ति में लाने का लक्ष्य है।आज हमारे संगठन में हजारों सदस्य एवं लाखों रुपए है, हम सब मिलकर छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रत्येक सदस्यों को जोड़ना है। भविष्य में संगठन के पास लाखों की संख्या में सदस्य एवं करोड़ों रुपए हो ऐसा प्रयास हम सब मिलकर करेंगे ।जिससे हम संवैधानिक हितो की रक्षा हेतु लड़ाई बेहतर ढंग से लड़ सकेंगे और हमारी बातों को कोई भी सरकार नजरअंदाज नहीं कर सकेगी।

 194 total views,  4 views today


Facebook Comments

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

सुकमा – सर्व आदिवासी समाज द्वारा बस्तर हो रहे धर्मान्तरण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

कांकेर जिले के ग्राम बाबुकोहका में कोया पूनेम व संवैधानिक जागरूकता कार्यशाला सम्पन्न