45 दिन से नारायणपुर जिला में शामिल करने 58 गांव के ग्रामीण बैठे थे धरने में, अब शुरू की राजधानी के लिए पदयात्रा, भारी पुलिस बल तैनात।


कांकेर- कोलर क्षेत्र के 58 गांव के ग्रामीण राज्यपाल से मिलने पदयात्रा शुरू किए,58 गांव को नारायणपुर जिले में शामिल करने की मांग को लेकर 45 दिन से ग्रामीण धरने पर बैठे हुए थे । ग्रामीणों की मांग अनसुनी किए जाने के बाद 58 गांव के 3 हजार ग्रामीण पैदल ही राजधानी रायपुर के लिए निकल पड़े है। खबर लिखे जाने तक ग्रामीणों की पैदल यात्रा कोलर से अन्तागढ़ 15 किमी दूरी तय कर पहुंची था जंहा ग्रामीणों को रोकने भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

नारायणपुर जिले में शामिल करने की मांग को लेकर कांकेर जिले के 58 गांव के ग्रामीण रावघाट मंदिर के पास 45 दिन से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हुए थे।

बता दें कि कांकेर जिले के 58 गांव के लोग वर्ष 2007 में नारायणपुर जिले के गठन के बाद से जिले में शामिल करने के लिए विभिन्न प्रकार से अपनी मांग शासन तक पहुंचाने में लगे हुए है. इनमें कोलर क्षेत्र से भैसगांव, कोलर, तालाबेड़ा, बैंहासालेभाट, फूलपाड़ एंव बण्डापाल क्षेत्र से कोसरोंडा, देवगांव, गवाडी, बण्डापाल, मातला- ब, अर्रा, मुल्ले व करमरी ग्राम पंचायत शामिल है. इन पंचायतों में निवासरत ग्रामीणों को शासकिय कार्य के लिए 150 किमी का सफर तय कर कांकेर जिला मुख्यालय जाना पड़ता है, जबकि इन गांवों से नारायणपुर जिला मुख्यालय की दूरी मात्र 20 किमी है.

यही नहीं कांकेर जिला के 13 ग्राम पंचायत में निवासरत ग्रामीणों का रहन-सहन रिश्तेदारी, बाजार, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी बुनियादी सुविधाए नारायणपुर जिला मुख्यालय से पूरी होती है. वहीं नारायणपुर जिला चिकित्सालय सहित रामकृष्ण आरोग्य धाम से इन ग्राम पचांयत के ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधाए उपलब्ध होती है. इसके अलावा छात्र नारायणपुर के स्वामी आत्मानंद महाविद्यालय से उच्च शिक्षा ग्रहण करते हैं. इस तरह से इन 13 ग्राम पंचायतों में लोगों को नारायणपुर जिले से जन सुविधाएं प्राप्त हो रही है.

कलेक्टर की नही सुनी

बीती रात कांकेर कलेक्टर चंदन कुमार, पुलीस अधीक्षक शलभ सिन्हा कोलर क्षेत्र के ग्रामीणों से मिलने पहुँचे थे,कलेक्टर ने पदयात्रा न करने का निवेदन किया था परंतु ग्रामीणों ने कलेक्टर की एक न सुनी,ग्रामीणों ने पदयात्रा शुरू किया।

 2,120 total views,  6 views today


Facebook Comments

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

द्वितीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य समारोह 28 से 30 अक्टूबर तक साइंस कालेज मैदान रायपुर में होगा भव्य आयोजन

जगदलपुर : जिला रोजगार एवं स्वरोजगार में पंजीयन हेतु ऑनलाइन की सुविधा