कांकेर में हुई बस्तर विकास प्राधिकरण की बैठक 31 करोड़ 60 लाख रूपये के 763 विकास कार्यों का अनुमोदन


गौठानों को ग्रामीण औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित करें – उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा

क्षेत्र में संचालित विकास कार्यों पर विशेष ध्यान दें-अध्यक्ष श्री लखेश्वर बघेल

जगदलपुर12 मार्च 2022/ बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की बैठक आज जिला पंचायत कांकेर के सभाकक्ष में आयोजित की गई, जिसमें 31 करोड़ 60 लाख रूपये के 763 विकास कार्यों का अनुमोदन किया गया, इनमें बस्तर जिले के 251, कोण्डागांव के 155, कांकेर के 147, नारायणपुर के 39, दंतेवाड़ा के 41, बीजापुर के 79 और सुकमा जिले के 51 विकास कार्य शामिल हैं। शासकीय कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने तथा बस्तर संभाग के गायता, मांझी, पुजारी इत्यादि के लिए बजट में मानदेय का प्रावधान करने पर मुख्यमंत्री श्री बघेल के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया गया। बस्तर संभाग के सभी जिलों में स्कूलों में अध्यन्नरत विद्यार्थियों का स्थायी जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए अभियान चलाने तथा अपूर्ण निर्माण कार्यों को शीघ्र पूरा करने और देवगुड़ी को राजस्व अभिलेख में दर्ज करने के लिए निर्देशित किया गया।
बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण अंतर्गत स्वीकृत विभिन्न विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा ने कहा कि गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गौठानों को सक्रिय करते हुए रूरल इंडस्ट्री पार्क के रूप में विकसित किया जावे। उन्होंने कहा कि प्राधिकरण के माध्यम से स्वीकृत छोटे-बड़े सभी कार्यों को समय-सीमा में गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाये, जल जीवन मिशन के कार्यों में तेजी लाया जावे तथा देवगुड़ी निर्माण की नियमितरूप से मॉनिटरिंग की जाय। देवगुड़ी निर्माण के लिए किये गये कार्यों की श्री लखमा द्वारा जिला प्रशासन की प्रशंसा किया गया।
बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लखेश्वर बघेल ने कहा कि विकास कार्यों के लिए प्राधिकरण महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है तथा नियमितरूप से समीक्षा किया जा रहा है। प्राधिकरण के सदस्य इसके दिशा-निर्देशों के अनुरूप अपने-अपने सुझाव अवश्य रखें तथा अपने क्षेत्र में जो भी विकास कार्य संचालित हो रहें है, उन पर विशेष ध्यान दें। उनके द्वारा वन अधिकार मान्यता पत्रों का निराकरण नियमानुसार करने के लिए निर्देशित किया गया।
बैठक में विशेष कनिष्ठ चयन बोर्ड बस्तर संभाग द्वारा कर्मचारी भर्ती की समीक्षा की गई तथा सत्यापन कार्य शीघ्रता से करने कहा गया। एनएमडीएम द्वारा प्रस्तावित सुपर स्पेशयलिटी अस्तपाल निर्माण की समीक्षा में सबंधित जिम्मेदार अधिकारी की बैठक में उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये। गृह निर्माण मण्डल द्वारा विकासखण्ड मुख्यालय में शासकीय आवास निर्माण में प्रगति की समीक्षा की गई तथा सभी कार्यों को गुणवत्ता के साथ तेजी से पूरा करने के लिए निर्देशित किया गया, जहॉ आवास निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, उसे हैण्डओव्हर कर कर्मचारियों को आबंटित करने के निर्देश दिये गये। दंतेवाड़ा क्षेत्र में एनएमडीसी के लालपानी से प्रभावित ग्रामों के लिए संचालित नरेली, धुरली जल प्रदाय योजना में प्रगति की भी समीक्षा किया गया। बस्तर संभाग के सभी जिलों में सांस्कृतिक धरोहरों एवं आदिवासी संस्कृति के अभिलेखीकरण पर चर्चा की गई, जिसमें बताया गया कि यह कार्य प्रगति पर है।
बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग 30 के निर्माण में प्रगति, ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रां में आजिवीका आधारित कार्यों को बढ़ाने, वनोपज एवं कृषि उपज आधारित प्रसंस्करण ईकाई की स्थापना, अनुसूचित जनजाति वर्ग के किसानों के भूमि पर ट््यूबवेल खनन एवं चैनलिंक फेंसिंग कार्य, अनुसूचित जनजाति वर्ग के कृषकों के असाध्य नलकूपों में उर्जीकरण, शहीद वीर नारायणसिंह स्वावलंबन योजना अंतर्गत भौतिक एवं वित्तीय प्रगति, वर्ष 2021-22 में जिलावार अनुशंसित निर्माण कार्यों की प्रशासकीय स्वीकृत इत्यादि की विस्तृत समीक्षा किया गया।
बैठक में कांकेर सांसद श्री मोहन मंडावी, संसदीय सचिव द्वय श्री शीशुपाल शोरी एवं श्री रेखचन्द जैन, बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री संतराम नेताम एवं विक्रमशाह मण्डावी, हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री चंदन कश्यप, विधायक चित्रकोट श्री राजमन बेंजाम, विधायक दंतेवाड़ा श्रीमती देवती कर्मा, विधायक अंतागढ़ श्री अनुप नाग, सातो जिलों के जिला पंचायत अध्यक्ष, प्राधिकरण के मनोनीत सदस्य, कमिश्नर श्री श्याम धावड़े, कलेक्टर कांकेर श्री चंदन कुमार, कलेक्टर दंतेवाड़ा श्री दीपक सोनी, कलेक्टर बस्तर श्री रजत बंसल, कलेक्टर कोण्डागांव श्री पुष्पेन्द्र मीणा सहित संभाग स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।
बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की बैठक को संबोधित करते हुए सांसद कांकेर श्री मोहन मण्डावी ने कहा कि एकमत होकर विकास कार्यों को बेहतर ढ़ंग से क्रियान्वितव किया जावे, गुणवत्ता का पालन सुनिश्चित की जाय तथा कार्यों को तेजी से पूरा किया जावे। बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री संतराम नेताम एवं विक्रमशाह मण्डावी ने कहा कि जो भी दायित्व सौंपे गये हैं, उसका भलिभांति निर्वहन करते हुए निर्माण कार्यों को पूरा किया जावे। संसदीय सचिव श्री शिशुपाल शोरी एवं श्री रेखचन्द जैन ने भी निर्माण कार्यों को शीघ्रता से पूरा करने कहा। विधायक अंतागढ़ श्री अनूप नाग एवं विधायक श्री नारायणपुर श्री चन्दन कश्यप द्वारा भी अपने विचार रखे गये। कांकेर कलेक्टर श्री चन्दन कुमार ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जो भी सुझाव एवं मार्गदर्शन प्राप्त हुये हैं, उनका पालन किया जायेगा।

 1,664 total views,  6 views today


Facebook Comments

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

सर्व समाज महिला प्रकोष्ठ ब्लाक इकाई कोयलीबेड़ा ने भारत की पहली शिक्षिका और समाज सुधारक सावित्री बाई फुले जी की 122वी पुण्यतिथि मनाई गई

रावस में दो दिवसीय कोया पुनेम एवं संवैधानिक प्रशिक्षण शिविर का समापन