53 दिन आंदोलन बाद आज देर रात तक एमडी बंगले के सामने पीड़ित परिवार और समाज



भिलाई- भिलाई इस्पात संयंत्र में कार्यरत्त कार्तिक राम ठाकुर जी मृत्यु आज से 53 दिन पहले 4 जनवरी 2021 को हुआ ,उनकी मृत्यु किडनी फैल होने की वजह से हुई थी चुकी BSP सयंत्र में किसी व्यक्ति के किडनी फेल होने पे अनुकंपा नियुक्ति का प्रवधान है इसलिये मृत व्यक्ति के परिजन पिछले 52 दिन से अनुकम्पा नियुक्ति को ले कर के आंदोलन जारी रखे है और इसी कड़ी में आज 26 फरवरी को शांति रैली के रूप में सेक्टर 1 मुर्गा चौक से रुआबंधा तालपुरी एमडी बंगला भिलाई इस्पात संयंत्र के सामने मार्ग पर समाज मे लोग मांग के लिए देर रात तक डटे हुए है रहे लोगों के कहना ही कि मांग की पूर्ति नही होगी एमडी बंगला से नही हटेंगे तब कही धरना प्रदर्शन को अधिकारियों के द्वारा नियंत्रित करते हुए BSP ने परिजनों से बैठक करने आश्वसन लेटर दिया गया ।
चूंकि पूर्व में टेबल वार इस पूरे प्रकरण में जिला प्रशासन के मध्यस्थ में BSP के GM लेवल के अधिकारी के साथ बैठक हो चुकी है किंतु रिजल्ट नही निकला फिर अनुसूचित जनजाति छत्तीसगढ़ के मध्यस्थ में दुवारा बैठक हुई लेकिन यहाँ बैठक भी बेनतीजा रहा है इसी बीच 29 जनवरी को 2021 को राज्य इस्पात मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते जी का भी भिलाई आगमन हुआ और समाज तथा परिजन ने मुलाकात कर BSP प्रबंधन के विरुद्ध शिकायत किया वा पूरी प्रकरण की जानकारी दी तथा केंद्रीय राज्य इस्पात मंत्री जी दुवारा परिवार वा समाज को आश्वासन दिया गया कि दिल्ली में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर बैठक में मेरे दुवारा पूरे प्रकरण को रखा जायेगा वा नियमानुसार पीड़ित परिवार के परिजन को अनुकंपा नियुक्ति दी जाएगी…इसी बीच परिजन वा आदिवासी समाज ने नतीजा कुछ ना निकलता देख आन्दोल तेज कर के हेतु भिलाई नगर के सभी समाज वा संगठन की बैठक बुलाई गई जिनका BSP प्रबंधन में प्रत्क्षय अप्रत्क्ष रूप से संबंधन है वा BSP प्रबंधक ले विरुद्ध आंदोनल चल रहा है उधर जिला प्रशासन में 15 फरवरी को परिवार को नोटिस दिया कि अनुक़मा नियुक्ति नही मिल सकता क्यों कि कार्तिक राम ठाकुर जी की मृत्यु पोस्ट कोविड की वजह से हुआ है वा परिवार से आग्रह किया कि बॉडी का अंतिम संस्कार करने हेतु आख़री नोटिस दिया गया इस शर्त में की अगर परिवार नही करता है तो 16 फरवरी को जिला प्रशासन खुद बॉडी का अंतिम संस्कार कर देगा तथा जिला प्रशासन ने कार्यवाही करते हुवे 16 फरवरी को मृतक कार्तिक राम ठाकुर जी का पंचनामा करते हुवे रामनगर भिलाई में अंतिम संस्कार करते कर माटी दे दिया गया था । 53 दिन से BSP कर्मचारी हासपेन कार्तिक राम ठाकुर के परिवार वाले और भिलाई के सामाजिक कार्यकर्ता आंदोलन कर रहे अनुक़मा नियुक्ति की मांग को ले कर जो अब तक किसी अधिकारी ने इस गम्भीर विषय पर ध्यान आकर्षित नही किया ।
क्या है मांग:-
01- अनुकम्पा नियुक्ति में विसंगतियों को दूर करते हुए मृत कर्मचारी हासपेन कार्तिक राम ठाकुर एवं अन्य के आश्रितों को निःशर्त नियुक्ति दी जाय।
02- ईस्पात कर्मियों सहित ठेका श्रमिकों का सम्मानजनक वेतन समझौता 31 मार्च 2021 तक हर हाल में किया जाय और जनवरी 2017 में एरियर दिया जाय ।
03- स्थायी प्रकृति के कार्यों में ठेका नियोजित श्रमिकों को नियमित किया जाय एवं यूनियन मान्यता के चुनाव में मत देने का संवैधानिक अधिकार दिया जाय ।
04- हजारों की संख्या में रिक्त स्वीकृति पदों में तुरंत भर्ती किया जाए और स्थानीय बेरोजगारों को प्राथमिकता दी जाय ।
05- बहुप्रतीक्षित हाउससील का छठा चरण तत्काल लागू किया जाए ।
06- शिक्षा, स्वास्थ्य और आवास संबंधी समस्याओं का तत्काल बहाल किया जाय ।
07- रिटेंशनधारियों की सेल पेंशन योजना पर लगी रोक को तत्काल हटाया जाए ।
आज दिनरात के धरना प्रदर्शन में कार्तिक राम ठाकुर जी के परिवार के 4 सदस्यों को CEO के साथ 2 मार्च मंगलवार को बैठक करवाने का आश्वसन लेटर दिया गया उसके बाद आदिवासी समाज ने आज का धरना प्रदर्शन खत्म किया ।
पीड़ित परिवार के साथ सर्व समाज एवं लोकतांत्रिक इस्पात इंजीनियरिंग मजदूर यूनियन भिलाई धरना में शामिल रहे |

 270 total views,  2 views today


Facebook Comments

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बी.पी.एस. नेताम लाल बत्ती की लालसा को त्याग करें तब मान सम्मान बढ़ जायेगी :- प्रकाश ठाकुर

बंदूक की नोक पर कराया जा रहा सरेंडर- सर्व आदिवासी समाज