बैगा चक और रावस के लोगों ने कुमुडकट्टा के जंगलों का अध्ययन किया


डौंडी : जंगल अध्ययन में आये बैगा चक (मध्यप्रदेश ) और रावस,कांकेर के लोगों को रोफरा ग्राम कुमुडकट्टा के ग्राम सभा एवं सामुदायिक वन प्रबंधन समिति के सदस्यों के द्वारा सुबह जंगल भ्रमण से पहले ग्राम सभा एवं वन प्रबंधन समिति के द्वारा जंगल के नियमों को बताया गया एवं नियमावली रजिस्टर में सभी का हस्ताक्षर करवाया गया तथा जंगल भ्रमण के दौरान CFRC एवं ग्राम सभा के सदस्यों के द्वारा जो भ्रमण में आए लोगों को अनेक प्रकार के औषधि की पहचान और बांस के नर मादा की पहचान करना सिखाया गया जंगल में पेड़ों की औसतन आयु निकालने के तरीके भी सिखाए गए पेड़ों की गिनती के मैथड बताया गया । जंगल को आग से बचाने के आधुनिक एवं परंपरिक तरीके का किस प्रकार उपयोग होता है, जिससे जंगल में उगने वाले छोटे छोटे पेड़ एवं साड़ियों की सुरक्षित रखा जा सके बारिश में मिट्टी के कटाव को कैसे रोका जाए इसके लिए उन्होंने तालाब एवं बांस के पेड़ों के पास छोटा छोटा गड़ढा के बेहतरीन तरीके से मिट्टी के कटाव एवं बांस के पेड़ पर मिट्टी  डालना दोंनो एक साथ कैसा होता है यह ग्राम सभा एवं सामुदायिक वन प्रबंधन समिति द्वारा दिखाया गया ।

जंगल भ्रमण के समय जैव विविधता को देखकर एवं पेड़ पौधों सटीक मौसम का पूर्वानुमान कैसे लगया, गांव के प्रबन्धन पारंपरिक तरीके को देखकर अध्ययन में आये साथी बहुत खुश हुए, ग्राम सभा अध्यक्ष रामाधिन मण्डावी ,  वन प्रबन्धन समिति अध्यक्ष ठाकुर राम नरेटी ,जैव विविधता प्रबंधन समित गोविंद मण्डावी , ग्राम पंचायत कुमुडकट्ट सरपंच दुर्गा तारम, ग्राम सभा सचिव सन्तु दुग्गा ग्राम प्रमुख विजय कुमार , धन्नू मण्डावी ,टोमान लाल मण्डावी , जयसिंह मरकाम ,पुनीत राम नेताम एवं साथ मे समस्त ग्रामवासियों के द्वारा विगत 14 सालों कार्यरत ग्राम पंचायत सचिव खिलावन दास मानिकपुरी का विदाई दिया गया ।

 1,812 total views,  2 views today


Facebook Comments

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

वन प्रबंधन पर पहली पहल जिला दंतेवाड़ा से

गोंडवाना समुदाय आज मना रहा है साल का पहला तिहार मरका पंडुम